छपरा:माँ यूथ ऑर्गेनाईजेशन बदल रहा है ग्रामीण जागरूकता की तस्वीर,दो फरवरी को आयोजित होगा रक्त दान शिविर

न्यूज स्पेशल ब्यूरो, भारत गांवों में बसता है। यहां के शहरी इलाके हमेशा से जागरूक रहे है, ज़रूरत है गांवों की तस्वीर बदलने की और इस काम को सारण ज़िला में बखूबी कर रहा है जलालपुर प्रखण्ड के बंगरा गांव में स्थित माँ यूथ ऑर्गेनाईजेशन। जलालपुर, नगरा और बनियापुर के प्रखण्ड के कई युवा इस संगठन से जुड़े हुये है और अपने अपने इलाकों में एक अलग तस्वीर गढ़ रहे है।इसका सबसे ताज़ा उदाहरण दिख रहा है 02 फरवरी 2019 को जलालपुर प्रखण्ड मुख्यालय के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर आयोजित होने जा रहा स्वैच्छिक रक्तदान शिविर। जहां ग्रामीण इलाकों में रक्तदान के प्रति कई भ्रांतियां फैली हुई थी, वहां 17 नवम्बर को सारण ज़िला के ग्रामीण इलाके में पहली बार इस संगठन द्वारा स्वैच्छिक रक्तदान शिविर आयोजित किया गया जिसमें रक्तदाताओं की भीड़ लग गयी थी। और अभी मात्र ढाई माह ही तो बीते है तब दूसरा स्वैच्छिक रक्तदान शिविर आयोजित होने जा रहा है, इसका अर्थ हुआ कि फिर से नये युवाओं की एक पूरी कतार खड़ी हो चुकी है रक्तदान के लिए।संगठन के अध्यक्ष शशि शेखर ने कहा कि दान के अनेक रूप है और किसी भी रूप में किया जा सकता है। दान का मकसद एक ही होता है मानव सेवा। रक्तदान एक ऐसा दान है जो न केवल एक व्यक्ति का जीवन बचाता है बल्कि उसके परिवार को अपार खुशियां दे जाता है। रक्तदान करने से शरीर में किसी प्रकार की हानि नहीं बल्कि रक्त का संचार होता है। तीन माह बाद इतनी ही मात्रा में बन जाता है। जरूरी है कि रक्तदान का महत्व जाने और साल में दो बार रक्तदान जरूर करें।संगठन की महासचिव जया सोनल ने इसका उद्देश्य बताया कि “ग्रामीण जागरूकता, भारत की आवश्यकता”। संगठन के द्वारा बंगरा में 250 लड़कियों को रोजाना निःशुल्क शिक्षा प्रदान की जाती है। 150 लड़कियों को आत्मसुरक्षा का निःशुल्क प्रशिक्षण दिया जाता है। 50 लड़कियों को निःशुल्क सिलाई-बुनाई सिखाई जाती है। इसके अलावे ग्रामीण बच्चों को प्रतियोगिता परीक्षा की निःशुल्क तैयारी कराई जाती है। संगठन मुख्यालय में लाइब्रेरी भी है। संगठन का अगला लक्ष्य 2019 में अतिरिक्त 21 निःशुल्क शिक्षण केंद्र खोलना है जिसमें पहला नूरनगर गांव में नितेश यादव के द्वारा खोला भी जा चुका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>